पुष्पा वीरेंद्र गणेदीवाल की जीवनी (जीवन परिचय), जन्म, प्रारंभिक जीवन, पढ़ाई, करियर, सफलता, और विवाद (Puspa Virendra Ganediwala’s Biography, Birth, Study, Career, Success, Marriage and Controversy.)

पुष्पा वीरेंद्र गणेदीवाला

अपने असंवेदनशील फैसले के लिए चर्चा में आई एक महिला जज जो मुंबई हाई कोर्ट के अतिरिक्त जज के रूप कार्यरत है।जिनका सिफारिश था, सुप्रीम कोर्ट में स्थाई नियुक्ति का लेकिन इन्होंने एक इतना अजीब और असंवेदनशील फैसले दिए कि आम लोगो ने इसकी खूब आलोचना की फलत: सुप्रीम कोर्ट ने , महिला जज की स्थाई तौर पर सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति के फैसले को खारिज कर दिया।आप सोच रहे होंगे कि कौन है ऐसी जज और ऐसा क्या फैसला दिया था।

तो मैं आपको बता देता हूं कि उस महिला जज का नाम है “पुष्पा वीरेंद्र गणेदीवाला (Puspa Virendra Ganediwala)”।इन्होंने सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर अपने कुतर्क से एक रेपिस्ट जैसे जघन्य अपराधी को आंशिक रूप से बरी कर दिया था।जब इस फैसले का भारी विरोध हुआ तो सुप्रीम कोर्ट ने इस फैसले पर रोक लगा दी और गणेदीवाल को सुप्रीम कोर्ट से हटा दिया।

आइए जानते हैं विस्तार से:–

संक्षिप्त जानकारी:–

  • नाम(Name):– पुष्पा वीरेंद्र गणेदीवाला।
  • जन्म स्थल(Birth Place):– परतवाड़ा, अमरावती (महाराष्ट्र)।
  • जन्म तिथि(Date of Birth):– 11 मार्च 1969
  • उम्र(Age):– 52 साल।
  • स्कूल(School):–
  • कॉलेज(College ):–
  • योग्यता(Qualification):– B.Com, LL.B and LL.M
  • करियर (Career):– प्रथम अमरावती डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में प्रैक्टिस की और अमरावती यूनिवर्सिटी में लेक्चरर बनी।
  • सफलता(Success):– सुप्रीम कोर्ट का जज।
  • विवाद(Controversy):– एक बलात्कारी को गलत व्याख्या देकर बरी कर देना।

कौन है” पुष्पा वीरेंद्र गणेदीवाल”।प्रारंभिक पढ़ाई और करियर(Who is Puspa Virendra Ganediwala. Initial Study and Career):–

श्रीमति “पुष्पा वीरेंद्र गणेदीवाला”महाराष्ट्र के अमरावती जिले के परतवाड़ा गांव के रहने वाली है।इन्होंने अपने प्रारंभिक पढ़ाई से लेकर LL.B मास्टर्स की डिग्री अमरावती से प्राप्त की और यही से डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में वकील के तौर पर प्रैक्टिस भी शुरू कर दी और धीरे – धीरे सफलता प्राप्त करके सुप्रीम कोर्ट की जज बन गई लेकिन वर्तमान समय में मुंबई हाई कोर्ट के एसोसिएट जज के रूप में काम कर रही है।

सफलता और विवाद ( Success and Controversy):–

  • श्रीमति पुष्पा गणेदीवाला को, 2007 में अमरावती में जिला न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति किया गया।
  • उसके बाद नागपुर में जिला प्रधान और सत्र न्यायाधीश बनी।
  • कालांतर में प्रमोशन देकर बॉम्बे उच्च न्यायालय के रजिस्टर जनरल के रूप में नियुक्त किया गया।
  • 2019 में,श्रीमती पुष्पा गणेदीवाला को बॉम्बे हाईकोर्ट में एक अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published.