लक्षद्वीप के बारे में जानकारी।लक्षद्वीप (Lakshadweep) का अर्थ क्या होता है ? लक्षद्वीप में कुल कितने द्वीप है? इसका क्षेत्रफल कितना है ? लक्षदीप कहां स्थित है ? यहां किस प्रकार जाया जा सकता है ? लक्षद्वीप की स्थापना कब हुई ? वहां कितने प्रकार की जनजाति पाई जाती है ? लक्षद्वीप में कौन सी जनजाति हैं? लक्षद्वीप का उपनाम क्या है?आजकल लक्षद्वीप चर्चा का विषय क्यों है ? लक्षद्वीप का धर्म क्या है? लक्षद्वीप का “टूर पैकेज” कितना है ?लक्षद्वीप कैसे बना ? लक्षद्वीप की यात्रा कैसे करे।लक्षद्वीप के फिल्म और गाने।लक्षद्वीप किस सागर या खाड़ी में है। लक्षद्वीप की कुल आबादी कितनी है? लक्षद्वीप का नक्शा, इतिहास, भूगोल आदि सारी जानकारियां।।

(Lakshadweep) लक्षद्वीप को “भारत के मालद्वीप” के उपनाम से भी जाना जाता है क्योंकि ये मालद्वीप के समान छोटा और चारो ओर समुंद्र से घिरा हुआ है जिसके कारण यहां के दृश्य काफी मनोरम हो जाता है।विभिन्न प्रकार के जीवो का होना, अलग – अलग प्रकार के पक्षियों का कोलाहल, समुंद्र तट को स्पर्श करती सूर्य की मनोरम रोशनी और आस – पास की हरे – भरे प्राकृतिक छटा, लक्षद्वीप को सुंदर और नयनप्रिय बनाता है।बराबर यहां लोग घूमने के लिए आया करते है लेकिन पर्यटक की संख्या काफी कम होती है क्योंकि यहां की सरकार और स्थानीय मुस्लिम लोग “पर्यटक” के आकर्षित करने के लिए कुछ खास नहीं करता।यहां की मुस्लिम आबादी खाने के लिए निरीह पशुओं को निर्दयता पूर्वक सरेआम सड़क पर काट देता है जिससे चारो ओर खून फैल जाता है और माहौल गमगीन/डरावना सा हो जाता है मतलब मुस्लिम लोग इतनी सुंदर ,मनोरम जगह को निर्दयता, क्रूरता और भयानकता से भर देता है जिससे पर्यटक नही जाते या दूर रहना चाहते है।यहां पहले हिंदू आबादी रहा करती थी लेकिन जब मुस्लिमो का राजनीतिक पर वर्चस्व हुआ तो यहां की हिंदू आबादी को छल – कपट, मार – काट कर खत्म कर दिया गया।आज लक्षद्वीप की आबादी में 90% मुस्लिम है और शेष आबादी जनजाति की है।यहां शुक्रवार को सरकारी छुट्टी दी जाती है और शराब पर पूर्ण प्रतिबंध है मतलब पोशाक आदि सबकुछ पर नजर डाला जाय तो लक्षद्वीप में अघोषित शरिया है।अब यहां की प्रशासन स्तिथि को सभी के लिए प्रिय बनाना चाहती हैं ताकि पर्यटक आ सके । इसके लिए सरकार सुधार भी कर रही है और आशा है की लोग इस बात को समझ पाएंगे।

“लक्षद्वीप” भारत का सबसे छोटा केंद्रशासित प्रदेश है जिसकी आबादी 64,476 और क्षेत्रफल 32.69 वर्ग किलोमीटर है। इसकी राजधानी “कवारती” है जो लक्षद्वीप की सबसे बड़ा शहर भी है ।यहां से सबसे निकट पड़ोसी राज्य केरल है जिसकी शहर कोच्चि से हवाई मार्ग द्वारा लक्षद्वीप जाया जाता है वही एक मार्ग है लक्षद्वीप जाने का लेकिन इसकी लिए लक्षद्वीप प्रशासन से अनुमति लेनी पड़ती है। हर कोई नही जा सकता वहां।

लक्षद्वीप (Lakshdweep) एक संस्कृत का शब्द है जिसका शाब्दिक अर्थ होता है ” लाख द्वीपों का समूह” लेकिन यह मात्र छोटे – छोटे 36 द्वीपों से मिलकर बना है लेकिन इसमें निवासयोग्य 10 द्वीप ही है जिसे “ग्राम पंचायत” बोला जाता है।जिसमे “कवारती” सबसे बड़ा द्वीप है जो लक्षद्वीप की राजधानी है।यहां मलयालम भाषा बोली जाती है।यहां की साक्षरता दर 91.82% है।

संक्षिप्त जानकारी:–

नाम (Name)लक्षद्वीप (Lakshadweep)
भारत से संबंधकेंद्र शासित प्रदेश
भारत से दूर220 से 440 किलोमीटर (केरल से)
जाने का मार्गहवाई मार्ग (केरल के कोच्चि शहर से हेलीकॉप्टर द्वारा)
कुल द्वीप36
रहने योग्य द्वीप10
भाषाअंग्रेजी, मलयालम, मह्ल
आबादी64,473 (2011 के अनुसार)
98% मुस्लिम और 2% जनजाति आदि।
जनसंख्या घनत्व2015/वर्ग किलोमीटर
सरकारउप राज्यपाल।
भारतीय संसद – 01
उच्च न्यायालयकेरल उच्च न्यायालय
गठन01नवंबर 1956
ISO CodeIN- LD- 05
जनजातिअमीनदिवी, मालमी, मेलाचेरी और कोया)
अवस्थित (कहां स्थित है)अरब महासागर
साक्षरता दर91.82%
राजधानीकवारती
क्षेत्रफल32,69 वर्ग किलोमीटर।
लक्षद्वीप का अर्थलाख द्वीपों का समूह
लक्षद्वीप का उपनामभारत का मालद्वीप

लक्षद्वीप (Lakshadweep) की विशेषता:–

  • आश्चर्य की बात है कि लक्षद्वीप (Lakshadweep) की आबादी का 90% मुस्लिम है लेकिन 95% आबादी को जनजाति की श्रेणी में रखा गया है।
  • कोई व्यक्ति या तो मुस्लिम हो सकता है या जनजाति।दोनो कैसे हो सकता है।
  • पहले यहां हिंदू आबादी हुआ करती थी लेकिन राजनीतिक में मुस्लिमो का वर्चस्व बढ़ने के बाद लक्षद्वीप के हिंदुओ को छल – कपट, मार – काट आदि द्वारा इस्लाम में धर्मांतरित कर दिया गया।
  • इसकी एक लक्षद्वीप की आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपलब्ध है।उस कहानी के अनुसार
  • सातवी शताब्दी में एक “शेख उबैदुल्लाह” नामक व्यक्ति अरब में पैदा हुआ।
  • जो अल्लाह के कहने पर (सपने में) इस्लाम के प्रचार प्रसार के लिए लक्षद्वीप पहुंचा।
  • वहां उसने अपनी बात कही और एक प्रभावशाली सुंदर युवती से विवाह कर लिया फिर उसका धर्मांतरण कर उसका नाम रखा “हमीदात बीबी”। इसपर प्रकार धीरे – धीरे हमीदत बीबी की सहायता से अन्य सभी को मुसलमान बना दिया जो आज 90% तक पहुंच गया है।
  • भारत से संबंधित होने के बावजूद वहां महात्मा गांधी जी की कोई प्रतिमा नही लगाई जा सकी थी।हाल ही में “राजनाथ सिंह” द्वारा गांधीजी की एक प्रतिमा लगाई गई है।
  • लक्षद्वीप को इसकी सुंदर, मनोरम छटा को देखकर ” भारत का मालद्वीप” कहा जाता हैं।
  • यहां आने के लिए लक्षद्वीप सरकार से परमिशन लेनी होती है।
  • कोचीन से हवाई मार्ग द्वारा ही “लक्षद्वीप” पहुंचा जा सकता है मतलब कोचीन, लक्षद्वीप का गेट- वे (Gate Way) है।

सरकार द्वारा सुधार के कई महत्वपूर्ण कदम उठाए है :—

Leave a comment

Your email address will not be published.